Q1 दर्शन का स्वरूप या प्रकृति को स्पष्ट कीजिए।(30 शब्द)

उत्तर- जिस प्रकार दर्शन का क्षेत्र, परिभाषा औऱ अध्ययन क्षेत्र विविध है उसकी प्रकार इसकी प्रकृति भी व्यापक हैं। जैसे-
1) दर्शन बौद्धिक चिंतन से जुड़ा है। 2) दर्शन अपने प्रकृति में वैज्ञानिक व तर्कशील है। 3) यह  जीव जगत ब्रम्ह का निरपेक्ष अध्ययन करता है। 4) यह तर्क बुद्धि और प्रमाण से सत्य की खोज करता है।
5) ये अपनी प्रकृति में लौकिक- अलौकिकता दोनो को समाहित करता है।