RPS-2020 CGPSC MAINS WRITING PRACTICE 14 MAY ANSWER

RPS-2020 CGPSC MAINS WRITING PRACTICE 14 MAY ANSWER


उत्तर-1 सामान्य अर्थो में समाज व्यक्तियों का समूह होता है जबकि समाजशास्त्र में समाज व्यक्ति- व्यक्ति के बीच पाए जाने वाले सामाजिक सम्बन्धो से निर्मित व्यवस्था है अर्थात समाज मानवीय अन्तर्क्रियाओं की एक प्रणाली है जहाँ व्यवहार, सामाजिक सुरक्षा, निर्वाह आदि होते है।
समाज के तत्व-
1) समाज मे पारस्परिक समानता होती है।
2) समाज अमूर्त है।
3) इसमे समानता – असमानता, संघर्ष- सहयोग पाया जाता है।
4) यह परिवर्तनशील है तथा व्यक्तियों तक सीमित नही है।
5) यह अन्योन्याश्रिता पर आधारित है


उत्तर-2 जब कुछ व्यक्ति किसी विशिष्ट लक्ष्य की पूर्ति में लिए आपस मे समाजिक सम्बन्धो का निर्माण कर लेती है तो उस संगठन को समूह कहते है।
प्राथमिक और द्वितीयक समूह में अंतर-
1) प्राथमिक समूह में स्थायी सम्बंध पाए जाते है तथा सम्बन्धो में निरंतरता होती है जबकि द्वितीयक समूह में सम्बन्ध अस्थायी होती है और निरंतरता नही होती ।
2) प्राथमिक समूह में सम्बन्ध वैयक्तिक होता है जबकि द्वितीयक में अवैयक्तिक होता है।
3) प्राथमिक समूह में सदस्यों में घनिष्ठता व समीपता होती है जबकि द्वितीयक में इसका अभाव होता है।
4) प्राथमिक समूह में संबंध स्वयं साध्य होता है जबकि द्वितीयक में नही।
5) प्राथमिक समूह सरल, ग्रामीण और आदिम समाज मे पाया जाता है जबकि द्वितीयक समूह जटिल नगरीय और आधुनिक समाज मे पाया जाता है।


उत्तर-3 जब किसी स्थान विशेष में लोगो के बीच कुछ समय के लिए सामाजिक समानता, सामान्य सामाजिक विचार, सामान्य प्रथाएँ तथा एक दूसरे के प्रति अपनेपन की भावना उत्पन्न हो तो वहाँ समुदाय जन्म लेती है। लुंडबर्ग के अनुसार- समुदाय मनुष्यों की जनसंख्या है जो सीमित भौगोलिक क्षेत्र में रहती हो और एक सामान्य परस्पर आश्रित जीवन व्यतीत करती हो।
जेल एक समुदाय के रूप में- जेल एक समुदाय हो सकता है क्योंकि जेल में भी व्यक्तियों का समूह होता है, जेल का स्थान निश्चित होता है, तथा कुछ मात्रा में ही सही हम की भावना होती है किंतु जेल में कैदी रहते है और उसका कोई उद्देश्य नही होता है तथा जेल में कैदियों के विकास नही होता , जेल को जान-बूझ कर बनाया जाता है, अतः जेल समुदाय नही हो सकता।


उत्तर-4 समुदाय और समाज मे अंतर-

1) समुदाय में व्यक्तियों के बीच सामुदायिक भावना होनी आवश्यक होती है। जबकि समाज मे आवश्यक नही है।
2) समुदाय का निश्चित प्रदेशीय सीमा होती है जबकि समाज विस्तृत है ,कोई सीमा नही है।
3) समुदाय मूर्त है जबकि समाज अमूर्त है।
4) समुदाय समाज का ही आधार है और समाज मे ही अवस्थित होता है जबकि समाज अलग है।


उत्तर 5- समिति किसी विशेष प्रयोजन की प्राप्ति हेतु संगठित मनुष्यों का समूह है। मैकाइवर के अनुसार- ” समिति किसी हित या कुछ हितों की सामुहिक प्राप्ति के लिए विचारपूर्ण निर्मित संगठन है और इसके सदस्य इसके सामान्य सहभागी होते है।


CLICK HERE FOR ALL QUESTION