CGPSC PRELIMS

CGPSC PRELIMS (प्रारंभिक परीक्षा) पद्धति एवं पाठ्यक्रम 


1) प्रारम्भिक  परीक्षा पद्धति से रूबरू 

  • प्रारम्भिक परीक्षा के  आयोजन के माध्यम से मुख्य परीक्षा मे शामिल होने वाले विद्यार्थियों का चयन किया जाता है ।
  • जिसकी संख्या रिक्त पदों की संख्या के 15 गुना होता है ।
  • उदाहरण के लिए यदि  400 रिक्त पद को भरा जाना है तो 15×400= 6000 विद्यार्थी मुख्य परीक्षा देने हेतु चयन किए जाएंगे । 
  • प्रारम्भिक परीक्षा के अंक अंतिम चयन सूची के लिए नहीं जोड़े जाते ।
  • प्रश्न पत्र का प्रकार –  प्रश्न  बहुविकल्पीय प्रकार का होगा
  • प्रश्न पत्रों की संख्या – प्रारम्भिक परीक्षा मे दो प्रश्न पत्र  होंगे – प्रश्न पत्र 1,प्रश्न पत्र 2  जिसका आयोजन क्रमश: एक ही दिन मे सुबह एवं शाम को किया जाता है ।
  • समय – प्रत्येक प्रश्न पत्र 2 घंटे का होगा
  • विकल्पों की संख्या – प्रत्येक प्रश्न मे 4 विकल्प (new) होंगे जिसमे से केवल एक सही होगा
  • ऋणात्मक अंक प्रावधान – प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 1/3(एक तिहाई ) अंक काटे जाएंगे
  • न्यूनतम अर्हता अंक – प्रत्येक प्रश्न -पत्र में  अनारक्षित वर्ग के अभ्यर्थी को न्यूनतम 33 प्रतिशत  अंक तथा आरक्षित वर्ग के एवं  विकलांग अभ्यर्थियों को न्यूनतम 23 प्रतिशत  अंक प्राप्त  करना अनिवार्य होगा। प्राविण्यता के आधार पर मुख्य परीक्षा के लिए अभ्यर्थियों का चयन किया जाएगा।
  • CGPSC 2017 के बाद से CSAT को क्वालिफाइंग(मात्र योग्यता परीक्षा )कर दिया गया है अतः मुख्य परीक्षा के लिए अभ्यर्थियों का चयन प्रश्न पत्र 1(सामान्य ज्ञान ) के आधार पर ही किया जाएगा 

2) CGPSC प्रारम्भिक  परीक्षा -: प्रश्न पत्र-1 

First Question Paper( GS 1 ):
  • कुल प्रश्न – 100  ,कुल अंक  200 , समय 2 घंटा
  • प्रश्न पत्र दो भाग  मे होंगे  – भाग  1 ,भाग   2
  • प्रत्येक भाग  से 50 प्रश्न होंगे
  • प्रत्येक सही उत्तर के लिए 2 अंक प्रदान किए जाएंगे और प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 1/3 अंक काटे जाएंगे
  • भाग 1 – सामान्य अध्ययन:- ( 50 प्रश्न इस भाग से )
    1. भारत का इतिहास एवं भारत का स्वतंत्रता आंदोलन ।
    2. भारत का भौतिक , सामाजिक एवं आर्थिक भूगोल ।
    3. भारत का संविधान एवं राज्य व्यवस्था।
    4. भारत की अर्थ व्यवस्था।
    5. सामान्य विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी ।
    6. भारतीय दर्शन, कला साहित्य एवं संस्कृति ।
    7. समसामयिक घटनाएं एवं खेल।
    8. पर्यावरण।

    भाग 2 – छत्तीसगढ़ का सामान्य ज्ञान:- ( 50 प्रश्न इस भाग से )
    1. छत्तीसगढ़ का इतिहास एवं स्वतंत्रता आंदोलन  में छत्तीसगढ़ का
    योगदान ।
    2. छत्तीसगढ़ का भूगोल , जलवायु, भौतिक दशाएं, जनगणना, पुरातात्विक
    एवं पर्यटन क केंद्र ।
    3. छत्तीसगढ़ का साहित्य, संगीत, नृत्य , कला एवं संस्कृति , जनऊला,
    मुहावरे , हाना एवं लोकोक्तियाँ
    4. छत्तीसगढ़ की जनजातियां, विशेष परम्पराएँ , तीज एवं त्यौहार ।
    5. छत्तीसगढ़ की अर्थ व्यवस्था, वन एवं कृषि ।
    6. छत्तीसगढ़ का प्रशासनिक ढांचा , स्थानीय शासन एवं पंचायती राज।
    7. छत्तीसगढ़ में उद्योग , ऊर्जा , जल एवं खनिज संसाधन।
    8. छत्तीसगढ़ की समसामयिक घटनाएं।

 

 

3) CGPSC प्रारम्भिक  परीक्षा – : प्रश्न पत्र-2 

Second Question Paper( CSAT ):

  • कुल प्रश्न – 100  ,कुल अंक  200 , समय 2 घंटा
  • प्रत्येक सही उत्तर के लिए 2 अंक प्रदान किए जाएंगे और प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 1/3 अंक काटे जाएंगे
  • 1. संचार कौशल सहित पारस्परिक कौशल ।
    2. तार्किक तर्क  और विश्लेषणात्मक क्षमता।
    3. निर्णय – निर्माण और  समस्या निवारण।
    4. सामान्य मानसिक योग्यता ।
    5. मूल संख्यात्मक कार्य  (सामान्य गणितीय कौशल ) ( स्तर-कक्षा दसवीं ) ,
    आंकड़ो की व्याख्या ( चार्ट, रेखांकन , तालिकाएं, आकड़ों  की पर्याप्तता
    इत्यादि (स्तर-कक्षा दसवी )।
    6. हिन्दी भाषा ज्ञान (स्तर-कक्षा दसवीं)।
    7. छत्तीसगढ़ी भाषा का ज्ञान।
    हिन्दी भाषा ज्ञान और छत्तीसगढ़ी भाषा से संबंधित प्रश्न उसी भाषा
    में होंगे , इनका अनुवाद उपलब्ध नही होगा ।
  • 2017 के बाद से CSAT को क्वालिफाइंग(मात्र योग्यता परीक्षा )कर दिया गया है

प्रारंभिक परीक्षा अध्ययन स्रोत एवं विश्लेषण 


     4)  प्रारम्भिक  परीक्षा हेतु उचित अध्ययन स्रोत 

 प्रश्न पत्र-1 (भाग 1) 

1.INDIAN ANCIENT HISTORY – OLD NCERT RS SHARMA .

2.INDIAN MEDIVAL HISTORY – OLD NCERT SATISH CHANDRA

3.INDIAN MODERN HISTORY – OLD NCERT VIPIN CHANDRA/spectrum rajiv ahir

4.INDIAN POLITY – LAXMIKANT

5.INDIAN ECONOMY – RAMESH SINGH

6.INDIAN GEOGRAPHY – NEW NCERT 6-12TH

7.SCIENCE AND TECH –NEW NCERTS

8. ENVIRONMENT – DRISHTI BOOK

प्रश्न पत्र-1 (भाग 2) 

  1. छत्तीसगढ़ वृहद् सन्दर्भ-उपकार पब्लिकेशन

या

     2.छत्तीसगढ़ सम्पूर्ण अध्ययन  -मुस्कान पब्लिकेशन

प्रश्न पत्र-2 

  1. अंकगणित SD यादव शारदा PUBLICATION

या

2.अंकगणित आरएस अग्रवाल

     5) पुराने वर्षों के प्रश्न पत्रों का विश्लेषण

Capture

सिखो  ध्यान से

एक उचित रणनीति बनाने के लिए यह अनिवार्य प्रक्रिया है आपको तैयारी शुरू करने से पहले पुराने वर्षों के प्रश्न पत्रों का ध्यानपूर्वक अवलोकन करना चाहिए । जहां तक संभव उन प्रश्नो को याद कर लेना चाहिए । इससे आपको बहुत सारे लाभ होंगे –

  • प्रश्न पुछने के तरीके का पता लग जाता है
  • जब आप किसी भी विषय का कोई अध्याय पढ़ रहे होते हो तो आपको बखूबी पता होता है कि यहाँ से किस प्रकार के प्रश्न पुछें जाते हैं ।

    6) प्रारम्भिक  परीक्षा सफलता हेतु सही मार्गदर्शन एवं रणनीति 

         प्रारम्भिक परीक्षा विस्तृत रणनीति हेतु यहाँ देखें 

 7)  सटीक प्रारम्भिक  परीक्षा  टेस्ट सिरीज़

सम्पूर्ण अध्ययन के पश्चात अभ्यास स्वरूप स्वमूल्यांकन अत्यंत आवश्यक है