GS PRELIMS STRATEGY

प्रारम्भिक परीक्षा प्रारूप एवं पाठ्यक्रम को विस्तार से समझने यहाँ क्लिक करें

हम इस मंत्र में विश्वास करते है कि :

‘प्रत्येक व्यक्ति अद्वितीय है, प्रत्येक व्यक्ति प्रतिभाशाली है, और हर व्यक्ति की क्षमता व्यापक है’

हम में से बहुत लोग कठिन परिश्रम तो करते हैं, लेकिन स्मार्ट काम नहीं कर पाते और फिर संसाधनों के अभाव (कोचिंग, गुणवत्ता वाली सामग्री आदि) और दिशा के भटकाव (कई पुस्तक सूचियां, कई सामग्रियों आदि) की वजह से कई उम्मीदवार अपने सपने को साकार करने में विफल होते हैं।

प्रतिबद्ध और मेहनतकश विद्यार्थियों की सफलता के लिए इस अंतर को समाप्त करना अनिवार्य प्रतीत होता है । और, यहीं से एक इमानदार मार्गदर्शक की भूमिका अस्तित्व में आती है।

CGPSC परीक्षा पास करना कोई पहाड़ तोड़ने जैसा भी काम नहीं है ,आपको इस बारे में बहुत सारे ज्ञान ऑनलाइन और ऑफलाइन मिल सकते हैं, कि क्यां पढ़ें ? लेकिन कैसे कैसे पढ़े !!

तो,इससे पहले कि आप विस्तृत रणनीति में जाएं कुछ आधारभूत जानकारी :

  • CGPSC को छत्तीसगढ़ में प्रशासन के उच्चतम अधिकारियों के रूप में सेवा के लिए एक सामान्य व्यक्ति की आवश्यकता है। एक सामान्य व्यक्ति वह है जो सभी चीजों के बारे में थोडा-बहुत जानता है, लेकिन मात्र कुछ चीजों के बारे में सब चीज नहीं की आवश्यकता नहीं  (वैज्ञानिक या शोधकर्ता कहते हैं)
  • पढ़ने के दौरान आपका दृष्टिकोण एक सामान्य व्यक्ति की तरह होना चाहिए, यानी सभी के ज्ञाता लेकिन किसी में विशेषज्ञता की आवश्यकता नहीं ।

उदाहरण के लिए, यदि आप अर्थशास्त्र में सकल घरेलु उत्पाद (GDP ) के बारे में पढ़ रहे हैं, तो आपको
यह ध्यान देना चाहिए कि GDP क्या है ? GDP में वृद्धि कैसे हो ; निहितार्थ (+ ve और -ve) – मानव जीवन और विकास पर प्रभाव; कमी या वृद्धि के कारक आदि , दुनिया भर के गणना सूत्र ,ग्राफ ,बहुत सारे अर्थशास्त्रियों के कथन आदि के बारे में वैज्ञानिक साहित्य पढ़ना जरूरी नहीं है। ज्यादा से ज्यादा बुनियादी गणना सिद्धांत और अर्थव्यवस्था में GDP की भूमिका पढ़ लें ।

आप सिविल सेवा प्रीमिम्स में पहली बार में ही सफल हो सकते हैं। आपको आसमान के नीचे सब कुछ भी जानने की ज़रूरत नहीं है आपको एक सामान्यवादी के दृष्टिकोण से पढ़ना चाहिए अवधारणाओं को समझना पहली प्राथमिकता होनी चाहिए क्योंकि मात्र रट्टा मारना आपको प्रीलिम्स और मेन्स में मदद नहीं करेगा।

तो बुनियादी समझ पर ध्यान दें; और गहन अध्ययन के बजाय व्यापक कवरेज को ।

अधिक कुशल और प्रभावी अध्ययन के लिए निम्न कुछ चीजों को याद रखें:

  • Cover to Cover कोई किताब न पढ़िए।
  • पहली बार अध्ययन में नोट्स न बनाएं
  • अपनी किताब सूची छोटी और सरल रखें
  • प्रत्येक विषय के लिए एक पुस्तक को अच्छी तरह से पढ़ने के बाद , कई अन्य स्रोतों की सहायता ले सकते हैं ( लेकिन एक किताब को पहले अच्छे से कर लें )
  • सावधानी से पढ़ें क्योकि उन्ही लाइनों के बीच में से प्रारंभिक एवं मुख्य परीक्षा का सवाल हो सकता है (इसके लिए पढ़ते समय सम्बंधित अध्याय के पुराने प्रश्न पत्र देखते रहें )
  • प्रारंभिक परीक्षा पूर्णतः , दिए गए 5 विकल्पों के बीच सही उत्तर ‘पहचानने’ से सम्बंधित है। इसलिए परीक्षा के लिए सभी तथ्यों को याद करने की चिंता मत करो। यह पूर्णतः गलत विकल्पों को हटाते हुए सही उत्तर की पहचान पर निर्भर है। अवधारणाओं को समझने पर फोकस अधिक होना चाहिए
  • अब, प्रत्येक विषय से सम्बंधित प्रारंभिक परीक्षा रणीनीति के लिए आप हमारे द्वारा दिए गए पृष्ठों और पृष्ठों की लम्बी सूची देखेंगे।

आपको इतनी लंबी विस्तृत रणनीति की आवश्यकता क्यों है?

    • पेपर 1 सिलेबस एक महासागर की तरह है आपको पता हो सकता है कि किन पुस्तकों और सामग्रियों को पढ़ें, लेकिन शायद यह नहीं,

    •  वास्तव में क्या पढ़ें ?
    • क्या न पढ़ें ?
    • किसी भी सामग्री से उचित और प्रासंगिक हिस्सों को कैसे जाने और पढ़ें हैं?
  • CGPSC आश्चर्य के लिए अच्छी तरह से जाना जाता है तो, आप सबकुछ पढ़ सकते हैं, फिर भी आपसे वह छुट ही जाता है जो कि CGPSC मांग रहा है। उदाहरण के लिए भारतीय व छत्तीसगढ़ राजव्यवस्था व इतिहास के पूरे पाठ्यक्रम को समाप्त करें, और आप अभी भी Prelims में इन विषयों में कम अंक ही पातें हैं ।
  • पाठ्क्रम में बहुत से ऐसे अनिश्चित क्षेत्र हैं, खासकर साइंस एंड टेक, पर्यावरण और जैव विविधता व समसामयिकी में। वे उदाहरणों के साथ विस्तार से बताए गए हैं; पिछले साल के CGPSC प्रश्नों का पैटर्न; और वर्तमान घटनाओं से संभव प्रश्न तैयार किए गए हैं
  • इसके अलावा, हमने दिया है

 

  • CGPSC की नवीनतम सोच के साथ विद्यार्थियों को जोड़ने के लिए 2011 -2012 से प्रीमिम्स के प्रश्न पत्र के रुझान और विषयों का विश्लेषण।
  • विषयों के बारे में एक सामान्य विचार स्थूल और सूक्ष्म दोनों स्तर पर प्रत्येक विषय को दिए गए महत्व (2012 से)
  • एक बुनियादी मार्गदर्शन / रुपरेखा प्रत्येक विषय, अध्याय और अनुच्छेदों () के लिए
  • प्रारंभिक परीक्षा के लिए किसमें ज्यादा ध्यान केन्द्रित करें उदाहरण के साथ
  • प्रत्येक विषय, अध्याय और अनुच्छेदों (sub-topics ) के महत्वपूर्ण पहलू
  • हमने प्रत्येक विषय/पाठ्यक्रम के लिए विभिन्न रणनीति दी है, जिसमें राजव्यवस्था , अर्थव्यवस्था, भूगोल, इतिहास, पर्यावरण, विज्ञान और प्रौद्योगिकी और समसामयिकी जिसमे दोनों राष्ट्रिय और प्रादेशिक स्तर पर शामिल हैं

 

अंत में, प्रत्येक विषय की चर्चा की समाप्ति के साथ एक लिंक उपलब्ध कराया गया है, जहां आप सभी विषयों के पिछले वर्ष के प्रारंभिक परीक्षा के सवालों को विषयवार पा सकते हैं .

नाविक आप है जो साहसी और जोखिम उठाने वाला है ,हम नाविक को उसके गंतव्य के लिए मार्गदर्शन करने वाले जादुई दिशासूचक यन्त्र मात्र होंगे। यात्रा आसन व सरल नहीं हो सकती है; उतार-चढ़ाव तो आते रहेगा अतः यात्रा को बहुत अधिक गंभीरता से न लें बस प्रक्रिया का आनंद लें

नोट: प्रत्येक विषय पर ‘विस्तृत रणनीति’ के लिए टैब पर क्लिक करें